चेतना न्यूज़

  खबरों का सच

मानसरोवर ग्लोबल यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित प्रक्रम फेस्ट के लाइव कॉन्सर्ट में बॉलीवुड सिंगर सचेत टंडन और परंपरा ठाकुर ने परफॉर्म किया

भोपाल 24 नवम्बर 【चेतना न्यूज़】 रविवार की शाम मानसरोवर ग्लोबल यूनिवर्सिटी द्वारा मानसरोवर डेंटल कॉलेज कैंपस में बॉलीवुड संगीतकार गायक पंरपरा ठाकुर और सचेत टंडन ने परफॉर्म किया। रियलिटी शो जीतने के बाद फेम और स्टारडम तो मिला लेकिन हम इतने से संतुष्ट नहीं थे, हम कुछ ऐसा करना चाहते थे जिससे हमारे काम को लोग पहचाने, हमने सिंगिंग के साथ कम्पोजिंग करने का मन बनाया। हम दोनों ही एक-दूसरे को बहुत अच्छे से समझते है, इसलिए जोड़ी बनाने का निर्णय लिया, चार साल की जर्नी हमें यहां तक ले आई। यह बात रविवार को एक होटल में मानसरोवर ग्लोबल यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान सुप्रसिद्ध संगीतकार जोड़ी परंपरा-सचेत ने कहे। अगर संतुष्ट हो जाते तो गायब हो जाते सिंगिंग रियलिटी शो द वाइस आफ इंडिया के वर्ष 2015 के विनर रहे सचेत टंडन ने कहा की शो के बाद स्टारडम मिला, स्टेज शो मील, लेकिन जो सक्सेस हमें चाईए थी वह अभी तक दूर थी, हम कुछ अलग करना चाहते थे, जोड़ी बनाकर अपनी कुछ कम्पोजीशन बनाई, फिर हमें टॉयलेट एक प्रेमकथा मिली, जिसके गीत लोगों ने काफी पसंद किये। दो दिन में बनाया बेख्याली गीत हमारे पास पहले से तैयार धुने नहीं होती, निर्देशक हमें स्टोरी प्लॉट देता है, हम उस पर रिसर्च करते हैं, इसके बाद धुन और गाने तैयार होते है, कबीर सिंह फ़िल्म के इस सुपर हिट गीत की जर्नी भी ऐसी ही है, निर्देशक संदीप रेड़्डी ने हमें स्टोरी के मुतािबक कुछ सुनाने को कहा, हमने उनके एक महीने का समय मांगा, लेकिन जब हम दोनों साथ बैठे तो दो दिन में ही धुन तैयार हो गई, जिसे हमने उन्हें सुनाई, ये धुन उस समय उन्हें पसंद नहीं आई, लेकिन अगले ही दिन निर्देशक ने हमें इसी धुन पर गीत बनाने का बोला, ओर दो दिनों में हमने बेख्याली में मुझे तेरा ही ख्याल आए गीत तैयार कर उन्हें सुना दिया,अपने सुपर हिट गीत से जुडे इस वाक्यें का जिक्र सचेत ने किया। हमारे पास दो दिमाग, दो सोच, दो आलोचक हम दोनों ही एक दूसरे के सबसे बड़े फैन और आलोचक है, एक चीज किसी को पसंद आती है तो दूसरे को नहीं, किसी धुन को लेकर भी हम पहले एक-दूसरे की बात सुनते है, फिर उस पर विचार करते है, इसके बाद जिसकी बात सही लगती है, उसे फालो करते है, इससे कुछ नया और अच्छा निकल कर आता है। सीए बनना चाहती थी, लेकिन यहां आ गई गायिका और कंपोजर परंपरा ठाकुर ने कहा की वे पढ़ाई में शुरुआत से ही होनहार रही है, वे सीए बनना चाहती थी, लेकिन पारिवािरक माहौल संगीत का रहा था, सो बचपन से ही संगीत से भी जुड़ाव रहा, फिर सचेत से मुलाकात के बाद हमने साथ में काम करने का मन बनाया ओर आज यहां तक आ पहुचें।


Share News

बहुचर्चित सारंगी कांड में फरार आरोपी की ली गई पुलिस अभिरक्षा

झाबुआ 26 सितम्बर 【चेतना न्यूज़】 जिला मीडिया सेल प्रभारी सुश्री सूरज वैरागी सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी, झाबुआ
Read More

एन.पी. पटेल, एडीपीओ, पुलिस महानिरीक्षक द्वारा पुरस्‍कृत

टीकमगढ़ 26 सितम्बर 【चेतना न्यूज़】 अभियोजन मीडिया प्रभारी ने बताया कि श्री एन.पी. पटेल, विशेष लोक अभियोजक, पॉक्‍सो
Read More

व्हाट्स एप्प पर अश्लील मेसेज भेजने वाले आरोपी को भेजा जेल

बड़वानी 26 सितम्बर 【चेतना न्यूज़】 माननीय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी महोदय बडवानी सुश्री रश्मि मण्डलोई
Read More

जेएमएफसी न्यायालय महेश्वंर द्वारा अवैध रूप से शराब बेचने वाले आरोपी को न्यायालय उठने तक के कारावास व 900 रूपये के अर्थदण्ड से दण्डित किया

इंदौर 26 सितम्बर 【चेतना न्यूज़】 कार्यालय जिला लोक अभियोजन खरगोन के मीडिया प्रभारी एडीपीओ अमरेन्द्र कुमार तिवारी
Read More

रिहायसी मकान में अवैध शराब रखने वाले आरोपी का जमानत आवेदन खारिज

चतुर्थ अपर सत्र न्यायाधीश खरगोन द्वारा अवैध शराब रखने वाले आरोपी का जमानत आवेदन खारिज कर दिया गया खरगोन 26
Read More

बलात्‍संग एवं मारपीट के आरोपीगण की जमानत निरस्‍त कर, भेजा जेल

टीकमगढ़ 26 सितम्बर 【चेतना न्यूज़】 मीडिया सेल प्रभारी एन.पी. पटेल ने बताया कि घटना दिनांक 24.09.2020 को फरियादिया ने अपनी
Read More

दहेज-हत्‍या के आरोपीगण को जेल वारंट जारी कर, भेजा न्‍यायिक अभिरक्षा में

टीकमगढ़ 26 सितम्बर【 चेतना न्यूज़】 मीडिया सेल प्रभारी एन.पी. पटेल ने बताया कि घटना दिनांक 09.02.2019 को मृतिका को आरोपीगण
Read More

वन विभाग के जिला समन्‍वयकों की वन्‍य प्राणी के प्रकरणों के संबंध में की गई ऑनलाईन समीक्षा बैठक

टीकमगढ़ 26 सितम्बर 【चेतना न्यूज़】 मीडिया सेल प्रभारी एन.पी. पटेल ने बताया कि श्री पुरूषोत्‍तम शर्मा,
Read More

वन/ वन्य प्राणी प्रकरण में की गई ऑन लाइन समीक्षा बैठक

वन/ वन्य प्राणी प्रकरण में की गई ऑन लाइन समीक्षा बैठक ,विलुप्त प्राय वन्य जीव शिकारियों को अब नहीं बख्शा
Read More